Aankhon Mein Teri Ajab Si Ajab Si Adayein Hain / आँखों में तेरी अजबसी अजबसी अदाएँ हैं

आँखों में तेरी अजबसी अजबसी अदाएँ हैं 
दिल को बना दे जो पतंग साँसे ये तेरी वो हवाएँ हैं

आई ऐसी रात है जो बहुत खुशनसीब है
चाहे जिसे दूर से दुनिया वो मेरे क़रीब है
कितना कुछ कहना है फिर भी दिल में सवाल कहीं
सपनों में जो रोज़ कहा है, वो फिर से कहूं या नहीं

तेरे साथ साथ ऐसा कोई नूर आया है
चांद तेरी रोशनी का हल्कासा एक साया है
तेरी नज़रों ने दिल का किया जो हश्र असर ये हुआ
अब इन में ही डूब के हो जाऊं पार यही है दुआ 

#ShahrukhKhan #DeepikaPadukone #FarahKhan

Aankhon Mein Teri Ajab Si Ajab Si Adayein Hain Lyrics

Ankhon men teri ajabasi ajabasi adaaen hain 
Dil ko bana de jo patng saanse ye teri wo hawaaen hain

Ai aisi raat hai jo bahut khushanasib hai
Chaahe jise dur se duniya wo mere krib hai
Kitana kuchh kahana hai fir bhi dil men sawaal kahin
Sapanon men jo roj kaha hai, wo fir se kahun ya nahin

Tere saath saath aisa koi nur aya hai
Chaand teri roshani ka halkaasa ek saaya hai
Teri najron ne dil ka kiya jo hashr asar ye hua
Ab in men hi dub ke ho jaaun paar yahi hai dua 

  

Leave a comment

Your email address will not be published.