Ab Khushi Hai Na Koi Dard / अब ख़ुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला

अब ख़ुशी है न कोई दर्द रुलाने वाला
हम ने अपना लिया हर रंग ज़माने वाला

उसको रुख़्सत तो किया था, मुझे मालूम न था
सारा घर ले गया, घर छोड़ के जाने वाला

इक मुसाफ़िर के सफ़र जैसी है सब की दुनिया
कोई जल्दी में, कोई देर से जाने वाला

एक बे-चेहरा सी उम्मीद है, चेहरा-चेहरा,
जिस तरफ़ देखिये आने को है आने वाला

Ab Khushi Hai Na Koi Dard Lyrics

Ab khushi hai n koi dard rulaane waala
Ham ne apana liya har rng zamaane waala

Usako rukhsat to kiya tha, mujhe maalum n tha
Saara ghar le gaya, ghar chhod ke jaane waala

Ik musaafir ke safar jaisi hai sab ki duniya
Koi jaldi men, koi der se jaane waala

Ek be-chehara si ummid hai, chehara-chehara,
Jis taraf dekhiye ane ko hai ane waala

Leave a comment

Your email address will not be published.