Ae Sanam Aaj Ye Qasam Khayen / ऐ सनम, आज ये कसम खाएँ

ऐ सनम आज ये कसम खाएँ
मुड़ के अब देखने का नाम ना लें
प्यार की वादियों में खो जाएँ

ऐ सनम आज ये कसम खाएँ
फ़ासले प्यार के मिटा डालें
और दुनिया से दूर हो जाएँ

इस मोहोब्बत के सिवा और ना कुछ याद रहें
इश्क दुनिया की तमन्नाओं से आज़ाद रहें 
तेरी आँखों के सिवा ज़िन्दगी और है क्या
तेरी चाहत का नशा, बेखुदी और है क्या

जिस तरफ जाएँ बहारों के सलाम आएँगे
आसमानों से भी रंगीन पयाम आएँगे
तेरा जलवा है जहाँ, मेरी जन्नत है वहाँ 
तेरे होठों की हंसी, सौ बहारों का समां

अपना ईमान फकत अपनी मोहब्बत होगी
हरघड़ी इश्क की एक ताज़ा कयामत होगी
देखकर रंग-ए-वफ़ा मुस्कुराएगा खुदा
और सोचेगा ज़रा, इश्क क्यो पैदा किया

#BharatBhushan #MalaSinha

Ae Sanam Aaj Ye Qasam Khayen Lyrics

Ai sanam aj ye kasam khaaen
Mud ke ab dekhane ka naam na len
Pyaar ki waadiyon men kho jaaen

Ai sanam aj ye kasam khaaen
Faasale pyaar ke mita daalen
Aur duniya se dur ho jaaen

Is mohobbat ke siwa aur na kuchh yaad rahen
Ishk duniya ki tamannaaon se ajaad rahen 
Teri ankhon ke siwa zindagi aur hai kya
Teri chaahat ka nasha, bekhudi aur hai kya

Jis taraf jaaen bahaaron ke salaam aenge
Asamaanon se bhi rngin payaam aenge
Tera jalawa hai jahaan, meri jannat hai wahaan 
Tere hothhon ki hnsi, sau bahaaron ka samaan

Apana imaan fakat apani mohabbat hogi
Haraghadi ishk ki ek taaja kayaamat hogi
Dekhakar rng-e-wafa muskuraaega khuda
Aur sochega jra, ishk kyo paida kiya

 

Leave a comment

Your email address will not be published.