Apne Pyar Ke Sapne / अपने प्यार के सपने सच हुए

अपने प्यार के सपने सच हुए
होठों पे गीतों के फूल खिल गए
सारी दुनिया छोड़ के मन मीत मिल गये

पलभर को मिले जो अँखियाँ, देखूँ मैं सुनी हैं जो बतियां
पढ़ लूँ तोरे नैनों की पतियां
बिना देखे तुम देखो मेरी आँखों से

कांटों से भरी थी जो गलियाँ, उन में खिली हैं अब कलियाँ
झूमों नाचो मनाओ रंगरलियां 
चलो सजना, कहें चल के सारे लोगों से

जब जब मिले जीवन ओ सजना, तुम ही मुझे पहनाओ कंगना
तेरी डोली रुके मेरे अंगना
मेरा घूँघटा तुम खोलो अपने हाथों से

#AmitabhBachchan #Rakhee #ShaktiSamanta

Apne Pyar Ke Sapne Lyrics

Apane pyaar ke sapane sach hue
Hothhon pe giton ke ful khil ge
Saari duniya chhod ke man mit mil gaye

Palabhar ko mile jo ankhiyaan, dekhun main suni hain jo batiyaan
Padh lun tore nainon ki patiyaan
Bina dekhe tum dekho meri ankhon se

Kaanton se bhari thi jo galiyaan, un men khili hain ab kaliyaan
Jhumon naacho manaao rngaraliyaan 
Chalo sajana, kahen chal ke saare logon se

Jab jab mile jiwan o sajana, tum hi mujhe pahanaao kngana
Teri doli ruke mere angana
Mera ghunghata tum kholo apane haathon se

  

Leave a comment

Your email address will not be published.