Awara Hoon / आवारा हूँ, आवारा हूँ

आवारा हूँ, आवारा हूँ
या गर्दिश में हूँ, आसमान का तारा हूँ

घरबार नहीं, संसार नहीं
मुझसे किसीको प्यार नहीं
उस पार किसीसे मिलने का इकरार नहीं
सुनसान नगर, अन्जान डगर का प्यारा हूँ

आबाद नहीं बरबाद सही
गाता हूँ खुशी के गीत मगर
ज़ख़्मों से भरा सीना है मेरा
हँसती है मगर ये मस्त नज़र
दुनिया, दुनिया मैं तेरे तीर का या तकदीर का मारा हूँ

#RajKapoor #RaagBhairavi

Awara Hoon Lyrics

Awaara hun, awaara hun
Ya gardish men hun, asamaan ka taara hun

Gharabaar nahin, snsaar nahin
Mujhase kisiko pyaar nahin
Us paar kisise milane ka ikaraar nahin
Sunasaan nagar, anjaan dagar ka pyaara hun

Abaad nahin barabaad sahi
Gaata hun khushi ke git magar
Jkhmon se bhara sina hai mera
Hnsati hai magar ye mast najr
Duniya, duniya main tere tir ka ya takadir ka maara hun

 

Leave a comment

Your email address will not be published.