Bahut Raat Hui / बहोत रात हुई Lyrics in Hindi

बहोत रात हुई 
थक गया हूँ 
मुझे सोने दो 
चाँद से कह दो उतर जाए 
बहोत बात हुई
मैं थक गया हूँ 
मुझे सोने दो 

आशियां के लिए 
चार तिनके भी थे 
आसरे रात के 
और दिन के भी थे 
ढूंढ़ते थे जिसे 
वो ज़रा सी ज़मीं 
आसमां के तले
खो गई है कहीं 
धूप से कह दो उतर जाए 
बहोत बात हुई
मैं थक गया हूँ 
मुझे सोने दो 

याद आता नहीं अब कोई नाम से 
सब घरों के दिए बुझ गए शाम  से 
वक़्त से कह दो गुज़र जाए 
बहोत बात हुई
मैं थक गया हूँ 
मुझे सोने दो

#NaseeruddinShah

Bahut Raat Hui Lyrics

Bahot raat hui 
Thak gaya hun 
Mujhe sone do 
Chaand se kah do utar jaae 
Bahot baat hui
Main thak gaya hun 
Mujhe sone do 

Ashiyaan ke lie 
Chaar tinake bhi the 
Asare raat ke 
Aur din ke bhi the 
Dhunढ़ate the jise 
Wo zara si zamin 
Asamaan ke tale
Kho gi hai kahin 
Dhup se kah do utar jaae 
Bahot baat hui
Main thak gaya hun 
Mujhe sone do 

Yaad ata nahin ab koi naam se 
Sab gharon ke die bujh ge shaam  se 
Waqt se kah do guzar jaae 
Bahot baat hui
Main thak gaya hun 
Mujhe sone do

Leave a comment

Your email address will not be published.