Baithe Hain Rehguzar Par / बैठे हैं रहगुज़र पर दिल का दिया जलाये Lyrics in Hindi

बैठे हैं रहगुज़र पर दिल का दिया जलाए
शायद वो दर्द जाने, शायद वो लौट आए

आकाश पर सितारें चल चल के थम गए हैं 
शबनम के सर्द आँसू फूलों पे जम गए हैं 
हम पर नहीं किसी पर ऐ काश रहम खाए

राहों में खो गई हैं हसरत भरी निगाहें 
कब से लचक रही है अरमान की नर्म बाहें 
हर मोड़ पर तमन्ना आहट उसीकी पाए

#Shakila

Baithe Hain Rehguzar Par Lyrics

Baithhe hain rahagujr par dil ka diya jalaae
Shaayad wo dard jaane, shaayad wo laut ae

Akaash par sitaaren chal chal ke tham ge hain 
Shabanam ke sard ansu fulon pe jam ge hain 
Ham par nahin kisi par ai kaash raham khaae

Raahon men kho gi hain hasarat bhari nigaahen 
Kab se lachak rahi hai aramaan ki narm baahen 
Har mod par tamanna ahat usiki paae

Leave a comment

Your email address will not be published.