Bechain Nazar Betaab Jigar (Talat) / बेचैन नज़र बेताब जिगर Lyrics in Hindi

बेचैन नज़र बेताब जिगर 
ये दिल है किसीका दीवाना, हाय दीवाना 
कब शाम हो और वो शम्मा जले 
कब उड़ कर पहुँचे परवाना

है दिल का चमन खिलने के लिये
आयेगा कोई मिलने के लिये
फूलों से कहो, तारों से कहो 
चुपके से सजा दें वीराना

जब रात ज़रा शबनम से धुले 
लहराई हुई वो जुल्फ़ खुले 
नज़रों से नज़र एक भेद कहे 
दिल दिल से कहे एक अफ़साना

रंगीन फ़िज़ा छाये तो ज़रा 
वादे पे कोई आये तो ज़रा 
ऐ जोश-ए-वफ़ा दिल चीज़ है क्या 
हम जान भी दें दें नज़राना

Bechain Nazar Betaab Jigar (Talat) Lyrics

Bechain najr betaab jigar 
Ye dil hai kisika diwaana, haay diwaana 
Kab shaam ho aur wo shamma jale 
Kab ud kar pahunche parawaana

Hai dil ka chaman khilane ke liye
Ayega koi milane ke liye
Fulon se kaho, taaron se kaho 
Chupake se saja den wiraana

Jab raat jra shabanam se dhule 
Laharaai hui wo julf khule 
Najron se najr ek bhed kahe 
Dil dil se kahe ek afsaana

Rngin fija chhaaye to jra 
Waade pe koi aye to jra 
Ai josh-e-wafa dil chij hai kya 
Ham jaan bhi den den najraana

Leave a comment

Your email address will not be published.