Hamesha Tumko Chaaha, Aur Chaaha Kuch Bhi Nahi / हमेशा तुम को चाहा, और चाहा कुछ भी नहीं Lyrics in Hindi

आई खुशी की है यह रात आई
सजधज के बारात है आई
धीरे धीरे ग़म का सागर
थम गया आँखों में आकर
गुँज उठी है जो शहनाई
तो आँखों ने ये बात बताई

हमेशा तुमको चाहा, और चाहा कुछ भी नहीं
तुम्हें दिल ने है पूजा, और पूजा कुछ भी नहीं

खुशियों में भी छाई उदासी
दर्द की छाया में वह लिपटी
कहने पिया से बस यह आई

जो दाग़ तुमने मुझको दिया
उस दाग़ से मेरा चेहरा खिला
रखूंगी मैं इस को निशानी बनाकर
माथे पे इसको हमेशा सजाकर
ओ प्रितम, बिन तेरे मेरे इस जीवन में कुछ भी नहीं

बीते लम्हों की यादें लेकर
बोझल कदमों से वह चलकर
दिल भी रोया और आँख भर आई
मन से आवाज है आई

वो बचपन की यादें
वो रिश्ते, वो नाते, वो सावन के झूले
वो हँसना, वो हँसाना, वो रुठ के फिर मनाना
वो हर एक पल मैं दिल में समाए
दिये में जलाये, ले जा रही हूँ मैं ले जा

#AishwaryaRai #ShahrukhKhan #SanjayLeelaBhansali

Hamesha Tumko Chaaha, Aur Chaaha Kuch Bhi Nahi Lyrics

Ai khushi ki hai yah raat ai
Sajadhaj ke baaraat hai ai
Dhire dhire gam ka saagar
Tham gaya ankhon men akar
Gunj uthhi hai jo shahanaai
To ankhon ne ye baat bataai

Hamesha tumako chaaha, aur chaaha kuchh bhi nahin
Tumhen dil ne hai puja, aur puja kuchh bhi nahin

Khushiyon men bhi chhaai udaasi
Dard ki chhaaya men wah lipati
Kahane piya se bas yah ai

Jo daag tumane mujhako diya
Us daag se mera chehara khila
Rakhungi main is ko nishaani banaakar
Maathe pe isako hamesha sajaakar
O pritam, bin tere mere is jiwan men kuchh bhi nahin

Bite lamhon ki yaaden lekar
Bojhal kadamon se wah chalakar
Dil bhi roya aur ankh bhar ai
Man se awaaj hai ai

Wo bachapan ki yaaden
Wo rishte, wo naate, wo saawan ke jhule
Wo hnsana, wo hnsaana, wo ruthh ke fir manaana
Wo har ek pal main dil men samaae
Diye men jalaaye, le ja rahi hun main le ja

  

Leave a comment

Your email address will not be published.