Hum Tumhare Liye, Tum Hamare Liye / हम तुम्हारे लिए, तुम हमारे लिए Lyrics in Hindi

हम तुम्हारे लिए, तुम हमारे लिए
फिर ज़माने का क्या है, हमारा ना हो

आप के प्यार का जो मिले आसरा
फिर खुदा का भी बेशक सहारा ना हो

तुम ही हो दिल में, तुम ही हो मेरी निगाहों में
न और आएगा अब कोई मेरी राहों में
करू ना आरज़ू मरने के बाद जन्नत की
अगर ये ज़िन्दगी गुज़रे तुम्हारी बाहों में
प्यार के चाँद से रात रोशन रहे
फिर कोई आसमां पे सितारा ना हो

नज़र नज़र से, कदम से कदम मिलाए हुये 
चले हैं वक्त की रफ़्तार को भुलाए हुये 
बहार पूछ रही है चमन के फूलों से
ये कौन आया के तुम सब हो सर झुकाए हुये 
सोच में फूल है हम अगर चल दिये 
फिर चमन में कभी ये नज़ारा ना हो

#Sadhana #SanjayKhan

Hum Tumhare Liye, Tum Hamare Liye Lyrics

Ham tumhaare lie, tum hamaare lie
Fir zamaane ka kya hai, hamaara na ho

Ap ke pyaar ka jo mile asara
Fir khuda ka bhi beshak sahaara na ho

Tum hi ho dil men, tum hi ho meri nigaahon men
N aur aega ab koi meri raahon men
Karu na arazu marane ke baad jannat ki
Agar ye zindagi gujre tumhaari baahon men
Pyaar ke chaand se raat roshan rahe
Fir koi asamaan pe sitaara na ho

Najr najr se, kadam se kadam milaae huye 
Chale hain wakt ki raftaar ko bhulaae huye 
Bahaar puchh rahi hai chaman ke fulon se
Ye kaun aya ke tum sab ho sar jhukaae huye 
Soch men ful hai ham agar chal diye 
Fir chaman men kabhi ye najaara na ho

 

Leave a comment

Your email address will not be published.