Itni Najuk Na Bano / इतनी नाजुक ना बनो Lyrics in Hindi

इतनी नाजुक न बनो, हाए इतनी नाजुक न बनो 
हद के अंदर हो नज़ाकत तो अदा होती है 
हद से बढ़ जाए तो आप अपनी सज़ा होती है 

जिस्म का बोझ उठाए नहीं उठता तुमसे 
ज़िंदगानी का कड़ा बोझ सहोगी कैसे 
तुम जो हल्की सी हवाओं में लचक जाती हो 
तेज झोंको के थपेड़ों में रहोगी कैसे 

ये ना समझो के हर एक राह में कलियाँ होंगी 
राह चलनी है तो काँटों पे भी चलना होगा
ये नया दौर है इस दौर में जीने के लिए 
हुस्न को हुस्न का अंदाज़ बदलना होगा 

कोई रुकता नहीं ठहरे हुए राही के लिए 
जो भी देखेगा वो कतरा के गुज़र जाएगा 
हम अगर वक़्त के हमराह ना चलने पाए 
वक़्त हम दोनों को ठुकरा के गुज़र जाएगा

#Biswajeet #KumudChuggani

Itni Najuk Na Bano Lyrics

Itani naajuk n bano, haae itani naajuk n bano 
Had ke andar ho najaakat to ada hoti hai 
Had se badh jaae to ap apani saza hoti hai 

Jism ka bojh uthhaae nahin uthhata tumase 
Jindagaani ka kada bojh sahogi kaise 
Tum jo halki si hawaaon men lachak jaati ho 
Tej jhonko ke thapedon men rahogi kaise 

Ye na samajho ke har ek raah men kaliyaan hongi 
Raah chalani hai to kaanton pe bhi chalana hoga
Ye naya daur hai is daur men jine ke lie 
Husn ko husn ka andaaz badalana hoga 

Koi rukata nahin thhahare hue raahi ke lie 
Jo bhi dekhega wo katara ke guzar jaaega 
Ham agar waqt ke hamaraah na chalane paae 
Waqt ham donon ko thhukara ke guzar jaaega


 

Leave a comment

Your email address will not be published.