Jab Jab Bahar Aayi / जब जब बहार आई और फूल मुस्कुराये Lyrics in Hindi

जब जब बहार आई और फूल मुस्कुराए
मुझे तुम याद आए
जब जब भी चाँद निकला और तारें जगमगाए
मुझे तुम याद आए

अपना कोई तराना मैंने नहीं बनाया 
तुमने मेरे लबों पे हर एक सुर सजाया 
जब जब मेरे तराने दुनिया ने गुनगुनाए 
मुझे तुम याद आए

एक प्यार और वफ़ा की तस्वीर मानता हूँ 
तस्वीर क्या तुम्हें मैं तक़दीर मानता हूँ 
देखी नज़र ने खुशियाँ या देखे ग़म के साये 
मुझे तुम याद आए 

Jab Jab Bahar Aayi Lyrics

Jab jab bahaar ai aur ful muskuraae
Mujhe tum yaad ae
Jab jab bhi chaand nikala aur taaren jagamagaae
Mujhe tum yaad ae

Apana koi taraana mainne nahin banaaya 
Tumane mere labon pe har ek sur sajaaya 
Jab jab mere taraane duniya ne gunagunaae 
Mujhe tum yaad ae

Ek pyaar aur wafa ki taswir maanata hun 
Taswir kya tumhen main taqadir maanata hun 
Dekhi nazar ne khushiyaan ya dekhe gam ke saaye 
Mujhe tum yaad ae 

Leave a comment

Your email address will not be published.