Jahan Mein Aisa Kaun Hai / जहां में ऐसा कौन है, के जिसको गम मिला नही Lyrics in Hindi

दुःख और सुख के रास्ते, बने हैं सब के वास्ते
जो ग़म से हार जाओगे, तो किस तरह निभाओगे
खुशी मिले हमें कि ग़म, जो होगा बाँट लेंगे हम
मुझे तुम आज़माओ तो, ज़रा नज़र मिलाओ तो
ये जिस्म दो सही मगर, दिलों में फासला नहीं

जहां में ऐसा कौन है के जिस को ग़म मिला नहीं

तुम्हारे प्यार की कसम, तुम्हारा ग़म है मेरा ग़म
न यूँ बुझे-बुझे रहो, जो दिल की बात है कहो
जो मुझ से भी छुपाओगे, तो फिर किसे बताओगे
मैं कोई गैर तो नहीं, दिलाऊँ किस तरह यकीं
कि तुमसे मैं जुदा नहीं, मुझसे तुम जुदा नहीं

#DevAnand #Sadhana

Jahan Mein Aisa Kaun Hai Lyrics

Duhkh aur sukh ke raaste, bane hain sab ke waaste
Jo gam se haar jaaoge, to kis tarah nibhaaoge
Khushi mile hamen ki gam, jo hoga baant lenge ham
Mujhe tum azamaao to, zara nazar milaao to
Ye jism do sahi magar, dilon men faasala nahin

Jahaan men aisa kaun hai ke jis ko gam mila nahin

Tumhaare pyaar ki kasam, tumhaara gam hai mera gam
N yun bujhe-bujhe raho, jo dil ki baat hai kaho
Jo mujh se bhi chhupaaoge, to fir kise bataaoge
Main koi gair to nahin, dilaaun kis tarah yakin
Ki tumase main juda nahin, mujhase tum juda nahin  

  

Leave a comment

Your email address will not be published.