Khilte Hain Gul Yahan / खिलते हैं गुल यहाँ, खिलके बिखर ने को Lyrics in Hindi

खिलते हैं गुल यहाँ, खिलके बिखरने को
मिलते हैं दिल यहाँ, मिलके बिछडने को

कल रहे ना रहे, मौसम ये प्यार का
कल रुके ना रुके, डोला बहार का
चार पल मिले जो आज प्यार में गुजार दे

झीलों के होठोंपर मेघों का राग है
फूलों के सीने में ठंडी ठंडी आग है
दिल के आईने में ये तू समा उतार ले

प्यासा है दिल सनम प्यासी ये रात है
होठों में दबी दबी कोई मीठी बात है
इन लम्हों पे आज तू हर खुशी निसार दे

#Rakhee #ShashiKapoor
#tandemsong #twinsong
#RaagBhimpalasi

Khilte Hain Gul Yahan Lyrics

Khilate hain gul yahaan, khilake bikharane ko
Milate hain dil yahaan, milake bichhadane ko

Kal rahe na rahe, mausam ye pyaar ka
Kal ruke na ruke, dola bahaar ka
Chaar pal mile jo aj pyaar men gujaar de

Jhilon ke hothhonpar meghon ka raag hai
Fulon ke sine men thhndi thhndi ag hai
Dil ke aine men ye tu sama utaar le

Pyaasa hai dil sanam pyaasi ye raat hai
Hothhon men dabi dabi koi mithhi baat hai
In lamhon pe aj tu har khushi nisaar de

  
 

Leave a comment

Your email address will not be published.