Kuch Na Kaho, Kuch Bhi Na Kaho (Lata) / कुछ ना कहो, कुछ भी ना कहो Lyrics in Hindi

कुछ ना कहो, कुछ भी ना कहो
क्या कहना है, क्या सुनना है
मुझको पता है, तुमको पता है
समय का ये पल थम सा गया है
और इस पल में कोई नहीं है
बस एक मैं हूँ, बस एक तुम हो

खोयी सब पहचाने, खोये सारे अपने
समय की छलनी से गिर गिर के, खोये सारे सपने
और इस पल में .. .. ..

हमने जब देखे थे, सुन्दर कोमल सपने
फूल सितारे, परबत, बादल, सब लगते थे अपने
और इस पल में .. .. ..

#AnilKapoor #ManishaKoirala #VidhuVinodChopra
#FilmfareBestMusicDirector

Kuch Na Kaho, Kuch Bhi Na Kaho (Lata) Lyrics

Kuchh na kaho, kuchh bhi na kaho
Kya kahana hai, kya sunana hai
Mujhako pata hai, tumako pata hai
Samay ka ye pal tham sa gaya hai
Aur is pal men koi nahin hai
Bas ek main hun, bas ek tum ho

Khoyi sab pahachaane, khoye saare apane
Samay ki chhalani se gir gir ke, khoye saare sapane
Aur is pal men .. .. ..

Hamane jab dekhe the, sundar komal sapane
Ful sitaare, parabat, baadal, sab lagate the apane
Aur is pal men .. .. ..

  

Leave a comment

Your email address will not be published.