Duniya Mein Aisa Kaha Sab Ka / दुनिया में ऐसा कहाँ सबका नसीब है Lyrics in Hindi

दुनिया में ऐसा कहाँ सबका नसीब है
कोई कोई अपने पिया के करीब है

दूर ही रहते हैं उनसे किनारे
जिन को ना कोई माँझी पार उतारे
साथ है माँझी तो किनारा भी करीब है

चाहे बुझा दे कोई दीपक सारे
प्रीत बिछाती जाए राहों में तारें
प्रीत दीवानी की कहानी भी अजीब है

बरखा की रुत हो या दिन हो बहार के
लगते हैं सुने सुने बिन तेरे प्यार के
तू है तो ज़िन्दगी को ज़िन्दगी नसीब है

#SharmilaTagore #Dharmendra

Duniya Mein Aisa Kaha Sab Ka Lyrics

Duniya men aisa kahaan sabaka nasib hai
Koi koi apane piya ke karib hai

Dur hi rahate hain unase kinaare
Jin ko na koi maanjhi paar utaare
Saath hai maanjhi to kinaara bhi karib hai

Chaahe bujha de koi dipak saare
Prit bichhaati jaae raahon men taaren
Prit diwaani ki kahaani bhi ajib hai

Barakha ki rut ho ya din ho bahaar ke
Lagate hain sune sune bin tere pyaar ke
Tu hai to zindagi ko zindagi nasib hai

 

Leave a comment

Your email address will not be published.