Jiska Mujhe Tha Intezar / जिसका मुझे था इंतज़ार Lyrics in Hindi

जिसका मुझे था इंतज़ार 
जिसके लिए दिल था बेक़रार 
वो घड़ी आ गई आ गई
आज प्यार में हद से गुज़र जाना है 
मार देना है तुझको या मर जाना है

मुझपे जो गुज़री तू क्या जाने
तू क्या समझे ओ दीवाने 
लेके रहूँगी बदला तुझसे
आई हूँ दिल की आग बुझाने 
क़ातिल मेरी नज़रों से बचके कहाँ जाएगा 
दिया है जो मुझको वही तू मुझसे पाएगा 
वो घडी आ गई तीर बन के जिगर में उतर जाना है 

जादू तेरा किसपे चला 
होगा किसी दिन ये फ़ैसला
वो घडी आएगी आएगी जानाँ 
तूने अभी ये कहाँ जाना है
किसे जीना है और किसको मर जाना है 

होगा तेरा आशिक़ ज़माना
औरों का दिल होगा तेरा निशाना
नाज़ न कर यूँ तीर-ए-नज़र पे 
आए हमें भी तीर चलाना 
जो है खिलाड़ी उन्हें खेल हम दिखाएँगे 
अपने ही जाल में शिकारी फँस जाएँगे
वो घडी आएगी, आएगी
वक़्त आने पे तुझको ये समझाना है 
किसे जीना है और किसको मर जाना है

#AmitabhBachchan #ZeenatAman

Jiska Mujhe Tha Intezar Lyrics

Jisaka mujhe tha intazaar 
Jisake lie dil tha beqaraar 
Wo ghadi a gi a gi
Aj pyaar men had se guzar jaana hai 
Maar dena hai tujhako ya mar jaana hai

Mujhape jo guzari tu kya jaane
Tu kya samajhe o diwaane 
Leke rahungi badala tujhase
Ai hun dil ki ag bujhaane 
Qaatil meri nazaron se bachake kahaan jaaega 
Diya hai jo mujhako wahi tu mujhase paaega 
Wo ghadi a gi tir ban ke jigar men utar jaana hai 

Jaadu tera kisape chala 
Hoga kisi din ye faisala
Wo ghadi aegi aegi jaanaan 
Tune abhi ye kahaan jaana hai
Kise jina hai aur kisako mar jaana hai 

Hoga tera ashiq zamaana
Auron ka dil hoga tera nishaana
Naaz n kar yun tir-e-nazar pe 
Ae hamen bhi tir chalaana 
Jo hai khilaadi unhen khel ham dikhaaenge 
Apane hi jaal men shikaari fns jaaenge
Wo ghadi aegi, aegi
Waqt ane pe tujhako ye samajhaana hai 
Kise jina hai aur kisako mar jaana hai

 

Leave a comment

Your email address will not be published.