Dheemi Dheemi Khushaboo Hai Tera Badan / धीमी धीमी खुशबू है तेरा बदन Lyrics in Hindi

धीमी धीमी भीनी भीनी खुशबू है तेरा बदन
सुलगे महके, पिघले दहके क्यों ना बहके मेरा मन
वो चली हवा के नशा घुला
है समा भी जैसे धुआँ धुआँ
तेरा रुप है के ये धूप है
खुले बाल है के हैं बदलियाँ
तू जो पास है, मुझे प्यास है
तेरे जिस्म का एहसास है

सांस भी जैसे रुक सी जाती है
तू जो पास आये तो आँच आती है
दिल की धडकन भी मेरे सीने में लडखडाती है
ये तेरा तन बदन कैसी है ये अगन
थंडक है जिस्म तू वो आग है
बलखाती है जो तू लहराती है जो तू
लगता है ये बदन एक राग है

#NanditaDas #RahulKhanna #DeepaMehta

Dheemi Dheemi Khushaboo Hai Tera Badan Lyrics

Dhimi dhimi bhini bhini khushabu hai tera badan
Sulage mahake, pighale dahake kyon na bahake mera man
Wo chali hawa ke nasha ghula
Hai sama bhi jaise dhuan dhuan
Tera rup hai ke ye dhup hai
Khule baal hai ke hain badaliyaan
Tu jo paas hai, mujhe pyaas hai
Tere jism ka ehasaas hai

Saans bhi jaise ruk si jaati hai
Tu jo paas aye to anch ati hai
Dil ki dhadakan bhi mere sine men ladakhadaati hai
Ye tera tan badan kaisi hai ye agan
Thndak hai jism tu wo ag hai
Balakhaati hai jo tu laharaati hai jo tu
Lagata hai ye badan ek raag hai

  

Leave a comment

Your email address will not be published.