Dil Apna Aur Preet Parai / दिल अपना और प्रीत पराई Lyrics in Hindi

दिल अपना और प्रीत पराई
किस ने है ये रीत बनाई
आँधी में एक दीप जलाया
और पानी में आग लगाई

है दर्द ऐसा के सहना है मुश्किल
दुनियावालों से कहना है मुश्किल
घिर के आया है तूफ़ान ऐसा
बच के साहिल पे रहना है मुश्किल

दिल को संभाला न दामन बचाया
फ़ैली जब आग तब होश आया
ग़म के मारे पुकारे किसे हम
हम से बिछड़ा हमारा ही साया

#MeenaKumari
#FilmfareBestMusicDirector
#RaagBhairavi
#SadSong

Dil Apna Aur Preet Parai Lyrics

Dil apana aur prit paraai
Kis ne hai ye rit banaai
Andhi men ek dip jalaaya
Aur paani men ag lagaai

Hai dard aisa ke sahana hai mushkil
Duniyaawaalon se kahana hai mushkil
Ghir ke aya hai tufaan aisa
Bach ke saahil pe rahana hai mushkil

Dil ko snbhaala n daaman bachaaya
Faili jab ag tab hosh aya
Gam ke maare pukaare kise ham
Ham se bichhada hamaara hi saaya




Leave a comment

Your email address will not be published.