Kyon Mujhe Itni Khushi De Di / क्यों मुझे इतनी ख़ुशी दे दी Lyrics in Hindi

क्यों मुझे इतनी ख़ुशी दे दी 
कि घबरता है दिल
कहीं मचल न जाऊँ, कहीं फिसल न जाऊँ
मचल न जाऊँ, फिसल न जाऊँ
क्यों मुझे इतनी ख़ुशी दे दी 
कि घबरता है दिल


एक मैं हूँ और बहारें बेशुमार 
हो न जाए आज आँचल तार-तार 
धक से हो जाता है मेरा जी 
जो इतराता है दिल 

खिल गई हूँ अपनी सूरत देखकर 
लग न जाए मुझको मेरी ही नज़र 
ये वो रुत है जिस में अपने पर 
खुद आ जाता है दिल 

ज़िन्दगी बेताब है मेरे लिए 
प्यार रंगीं ख़्वाब है मेरे लिए 
सब बहक जाते हैं जाने क्यों 
जो बहकाता है दिल

#Shashikala #DevenVerma #David #HrishikeshMukherjee

Kyon Mujhe Itni Khushi De Di Lyrics

Kyon mujhe itani khushi de di 
Ki ghabarata hai dil
Kahin machal n jaaun, kahin fisal n jaaun
Machal n jaaun, fisal n jaaun
Kyon mujhe itani khushi de di 
Ki ghabarata hai dil


Ek main hun aur bahaaren beshumaar 
Ho n jaae aj anchal taar-taar 
Dhak se ho jaata hai mera ji 
Jo itaraata hai dil 

Khil gi hun apani surat dekhakar 
Lag n jaae mujhako meri hi nazar 
Ye wo rut hai jis men apane par 
Khud a jaata hai dil 

Zindagi betaab hai mere lie 
Pyaar rngin khwaab hai mere lie 
Sab bahak jaate hain jaane kyon 
Jo bahakaata hai dil


   

Leave a comment

Your email address will not be published.